News Details

मदद के मरहम ने और गहरे किये जख्म, सरकारी मदद के नाम पर शर्मनाक मजाक

मदद के मरहम ने और गहरे किये जख्म, सरकारी मदद के नाम पर शर्मनाक मजाक लखनऊ। क्या वाकई में लोगों द्वारा पहले से किया गया शक सच हो गया? अब लग तो ऐसा ही रहा है। प्रतापगढ़ में जलाकर मारी गयी ज्योति विश्वकर्मा को न्याय दिलाने के लिये विश्वकर्मा समाज के लोगों द्वारा किये गये आन्दोलन के बीच जब पांच लाख रूपये की चेक मृतक के घर पहुंची तो लोगों ने शक जाहिर किया कि कहीं यह 'चेक' ही न रह जाये। आखिर में अब तक के परिणाम में यही सच सामने आया है। जिस समय आन्दोलन तेजी पर था उसी समय अखबारों और टीवी चैनलों पर यह बयान बहुत ही तेजी से आया कि ज्योति विश्वकर्मा के परिजनों को मुख्यमन्त्री ने पांच लाख रूपये का आर्थिक सहयोग स्वीकृत किया है। देखते ही देखते ज्योति के घर पांच लाख रूपये का चेक पहुंच भी गया। उसी समय कुछ लोगों ने चेक को लेकर शक जाहिर किया था जो बैंक द्वारा चेक वापस करने के बाद सच में बदल गया।

Ads