Apke Lekh Details

To post comments on this Lekh you need to be logged in.

Mr Omesha  Arts
Mr Omesha Arts omesha.arts@gmail.com 8652681157
Subject : गर्व से कहो हम विश्वकर्मा है

कोई पांचाल लिखता है कोई जांगिड़ कहाता है,
कोई शर्मा लिखता है कोई धीमान कहाता है,
मैं तुझसे दूर कैसा हूँ तूम मुझसे दूर कैसे हो,
ये तुम्हारा दिल समझता है या मेरा दिल समझता है.

कोई स्वर्णकार है हममे कोई सुतार है हममे,
कोई कंसार है हममे कोई लोहार है हममे,
कला की हममे है दरिया,
कला से प्यार करते है.

कुछ करने पर जो आते है तो, हम वो कर ही जाते है,
असंभव को भी हम संभव कर के दिखाते है,
कला से प्यार हो जाये कला ऐसी दिखाते है,
जिसे सब देखकर दाँतो तले अंगुली दबाते है.

जो मै कह रहा हु ये एक वंशज की कहानी है,
वेदो मे भी है ये लिख्खा पुराणों ने बयानी है,
यही सब ग्रंथ कहते है की ये वंश है सर्वोत्तम,
जो समझो तो मोती है, न समझो तो पानी है.

ये मेरी भी कहानी है ये तेरी भी कहानी है,
हमारी ही कहानी है हमारी ही जुबानी है,
मेहनत कर के जीते है मेहनत की ही खाते है,
हुये विश्वकर्मावंश मे पैदा इसी पर गर्व करते है.

Krishn Prasad Vishwakarma

Comments

DEVENDRA KUMAR

ALL SHARMA+ALL VERMA= VISHWAKARMA WE SHOULD THINK LIKE THAT. REGARDS DEVENDRA

2/26/2017 9:22:58 AM

Sanjay Vishwakarma

Good

4/10/2016 4:55:26 AM

Nandlal Vishwakarma

good nice line

8/18/2014 10:35:28 PM

Gajanan Pawar

Jay vishwakarma

3/31/2014 10:36:27 PM

RAHUL VISHWKARMA JI

हम VISHWAKARMA है?

3/3/2014 9:52:04 PM

Anil Vishwakarma

That's the pretty good lines :)

2/25/2014 10:36:38 PM

Post Comments
User Pic

Ads